भोपाल। मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मेनिट) भोपाल में 'पदार्थ गुणों को पहचाने के लिए एडवांस्ड टूल्स" विषय पर कार्यशाला आयोजित की जा रही है।
">

मेनिट में एडवांस्ड मटेरियल टूल्स पर कार्यशाला

भोपाल। मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मेनिट) भोपाल में 'पदार्थ गुणों को पहचाने के लिए एडवांस्ड टूल्स" विषय पर कार्यशाला आयोजित की जा रही है।

इस पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन मेनिट के ही केमिकल इंजीनियरिंग व बायोटेक्नोलॉजी विभाग व मटेरियरल साइंस एंड मैटलर्जिकल इंजीनियरिगं विभाग द्वारा किया जा रहा है।

कार्यशाला में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को विभिन्ना तकनीकी संस्थानों से आए विषय विशेषज्ञ पदार्थों के गुणों को पहचानने के लिए एक्स-रे डिफरेक्टन, स्कैनिंग इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप, रमन स्पैक्ट्रोस्कोपी, अल्ट्रा विजिबल स्पैक्ट्रोस्कोपी आदि जैसे एडवांस्ड टूल्स के उपयोग के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

कार्यशाला के पहले दिन सोमवार को उदघाटन अवसर के मुख्य अतिथि एम्प्री भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.ओपी मोदी ने कहा कि विज्ञान के क्षेत्र में पदार्थ सबसे महत्वपूर्ण होते हैं। पदार्थों के गुणों को जानने व पहचानने के लिए आज काफी आधुनिक मशीनें आ गई हैं।

एक्स-रे डिफरेक्टन, स्कैनिंग इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप, रमन स्पैक्ट्रोस्कोपी, अल्ट्रा विजिबल स्पैक्ट्रोस्कोपी जैसे एडवांस्ड टूल्स से पदार्थों के गुणों का अध्ययन आसान हो गया है। खासकर 21 वीं सदी में तो रिचर्स का पूरा काम ही इन आधुनियक उपकरणों पर टिका हुआ है।

कार्यशाला के समन्वयक मेनिट के केमिकल इंजीनियरिंग व बायोटेक्नोलॉजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ.भारत मौधेड़ा के अनुसार कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ प्रतिभागियों को इन एडवांस्ड टूल्स के बारे में विस्तार से जानकारी दे रहे हैं।

इस कार्यशाला में भाग लेने के लिऐ देश भर से करीब 50 प्रतिभागियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। कार्यशाला के उदघाटन अवसर पर मेनिट निदेशक डॉ.अप्पू कुट्टन केके, मटेरियरल साइंस एंड मैटलर्जिकल इंजीनियरिगं विभाग के एचओडी डॉ.अनिल शर्मा, इंजीनियरिंग केकेएस गौतम, डॉ.संजय श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे। 

1
Back to top