बेहतर फ्यूल सिस्टम डिजाइन कर सकेंगे इंजीनियर

अलबामा। इंजीनियर अब मोटर साइकिल से लेकर रॉकेट तक की गति को कम खर्चे में बढ़ा सकेंगे। हंट्सविले स्थित अलबामा यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों ने बेहतर ईंधन सिस्टम को डिजाइन  करने के लिए मैथमेटिकल फ्यूल मॉडल विकसित करने में सफलता प्राप्त कर ली है।

साइंस डेली में प्रकाशित खबर के अनुसार यह फ्यूल मॉडल कार व ट्रक के इंजन की हार्स पॉवर, बेहतर गैस माइलेज व क्षमता बढ़ाने में सहायक होगा। सबसे खास बात यह है कि यह सारा काम इंजीनियर मूल  मॉडल बनाने से पहले कम्प्यूटर पर ही करेंगे।

यह मॉडल शोधार्थियों को कम्प्यूटर पर ही ईंधन के विकल्प तलाशने में भी मदद करेगा। अलबामा यूनिवर्सिटी के केमिकल इंजीनियरिंग विभाग के डॉ.चियान पिन चेन के अनुसार इस अनुसंधान में यही सबसे ज्यादा आकर्षित व उत्साहित करने वाला पहलु है। 

यदि किसी को आंतरिक ज्वलन इंजन की संख्यात्मक आकृति पता करनी है तो उसे सबसे पहले ईंधन की स्टडी करनी होती है। लेकिन ईंधन चूंकि अत्यधिक जटिल पदार्थ होता है इसलिए शोधार्थियों को यह काम सुपर कम्प्यूटर की मदद से करने की जरूरत है।

उदाहरण के लिए गैसोलिन जैसे पेट्रोल पदार्थ की वाष्पीकरण दर व इग्निशन प्वाइंट हजारों पदार्थों के साथ होती है। इस काम को पहले कम्प्यूटर पर करने से आगे शोध करने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि इस शोधकार्य के लिए नासा व गल्फ ऑफ मेक्सिको सिर्च इनीशियटिव ग्रांट्स ने अनुदान दिया था।  
 
1
Back to top