वायु प्रदूषण को रोकने में दिल्ली, बिहार पिछड़े

नई दिल्ली। वायु प्रदूषण को रोकने में दिल्ली, अरुणाचल प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, जम्मू व कश्मीर, झारखण्ड, मध्यप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, त्रिपुरा, उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड जैसे राज्य पिछड़ गए हैं। जबकि गोवा, कर्नाटक, केरल, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, तमिलनाडू, दादर व नगर हवेली, दमन व द्वीव व पुदूचेरी जैसे राज्यों ने ने बेहतर काम किया है।

प्लानिंग कमीशन एन्वायरोन्मेंटल परफॉरमेंस इंडेक्स में वायु प्रदूषण पर लगाम कसने के लिए मिजोरम, केरल, सिक्किम व पुदूचेरी राज्य को क्रमश: पहली, दूसरी, तीसरी व चौथी रैंक मिली है। जबकि इस मामले में सबसे ज्यादा खराब स्थिति दिल्ली, त्रिपुरा, बिहार व अरुणाचल प्रदेश की जिन्हें क्रमश: 30, 31, 32 व 33 रैंक पर रखा गया है। यह खुलासा 'करंट साइंस" के ताजा अंक में प्रकाशित लेख में किया गया है। 'कंस्ट्रक्शन ऑफ एन्वायरोन्मेंटल परफॉरमेंस इंडेक्स एंड रैंकिंग ऑफ स्टेट" शीर्षक से प्रकाशित इस लेख में इसका खुलासा किया गया है कि किस राज्य ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में बेहतर काम किया है।

ईपीआई में पहली आंध्रप्रदेश रैंक पर

प्रकाशित लेख के अनुसार वायु प्रदूषण, जल, वन संरक्षण, वेस्ट मैनेजमेंट व जलवायु परिवर्तन जैसे क्षे
त्रों को मिलाकर जो 2012 का अंतिम एन्वायरोन्मेंटल परफॉरमेंस इंडेक्स (ईपीआई) तैयार किया गया है उसमें आंध्रप्रदेश, सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडू व मेघालय क्रमश: पहली, दूसरी, तीसरी, चौथी, पांचवी, छठवीं, सातवी, आठवीं, नौवीं व दसवीं रैंक पर हैं। जबकि सबसे खराब राज्यों की सूची में बिहार, अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली, दमन एंड दीव, अंडमान एंड निकोबार तथा लक्ष्यदीप क्रमश: 30, 31, 32, 33, 34 व 35 वीं रैंक पर हैं। हालांकि वन संरक्षण में अरुणाचल प्रदेश, उड़ीसा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखण्ड, आंध्र प्रदेश, चंडीगढ़, त्रिपुरा, कर्नाटक व हिमाचल प्रदेश क्रमश: पहली, दूसरी, तीसरी, चौथी, पांचवी, छठवीं, सातवी, आठवीं, नौवीं व दसवीं रैंक पर हैं।


जल संरक्षण में हिमाचल आगे
जल संरक्षण में हिमाचल प्रदेश, गोवा, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, पुद्दुचैरी, तमिल नाडू, मध्यप्रदेश, गुजरात, सिक्किम व कर्नाटक क्रमश: पहली, दूसरी, तीसरी, चौथी, पांचवी, छठवीं, सातवी, आठवीं, नौवीं व दसवीं रैंक पर हैं। जबकि इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा खराब खराब स्थिति दमन एंड दीव, लक्ष्यदीप, अंडमान एंड निकोबार, अरुणाचल प्रदेश, व दिल्ली की है। वहीं कचरा प्रबंधन में छत्तीसगढ़, सिक्किम, चंडीगढ़, मेघालय, हिमाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब, मध्यप्रदेश, गुजरात व तमिल नाडू को क्रमश: पहली, दूसरी, तीसरी, चौथी, पांचवी, छठवीं, सातवी, आठवीं, नौवीं व दसवीं रैंक पर रखा गया हैं।

कचरा प्रबंधन में दिल्ली पीछे
कचरा प्रबंधन में दिल्ली 31 वीं रैंक पर है। इस रैंकिंग के लिए एन्वायरोन्मेंटल क्वालिटी इंडेक्स के अलावा आर्गेनाइजेशन फॉर इकनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवपलमेंट के एन्वायरोन्मेंटल इंडीकेटर तथा येल यूनिवर्सिटी के एन्वायरोन्मेंटल परफॉरमेंस इंडेक्स प्रणाली का उपयोग किया गया।
1
Back to top