भोपाल के चार बीएड कॉलेजों को हाईकोर्ट से राहत

जबलपुर। प्रदेश के करीब 375 कॉलेजों में संचालित बीएड कोर्स में प्रवेश के लिए चल रही काउंसलिंग में चार और कॉलेज शामिल होंगे। उच्च न्यायालय जबलपुर ने उच्च शिक्षा विभाग को आदेश जारी कर भोपाल के चार बीएड कॉलेजों को सत्र 2012-13 की काउंसलिंग में शामिल करने को कहा है।

सोमवार को जस्टिस केके लाहौटी व जस्टिस एमए सिदि्दकी की युगलपीठ ने भोपाल के जोहरी प्रोफेशनल एंड एजुकेशनल कॉलेज सहित तीन अन्य कॉलेजों की याचिका पर सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने सत्र 2009-10 में प्रदेश भर के 250 बीएड कॉलेजों का औचक निरीक्षण किया था। इनमें से 150 कॉलेजों की मान्यता समाप्त कर दी थी।

मान्यता निरंतर करने का आवेदन
एनसीटीई के इस कदम के खिलाफ कई कालेजों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। बाद में हाईकोर्ट ने अप्रैल-मई 2012 में इन कॉलेजों की मान्यता बहाल करते हुए कहा था कि पुराने कॉलेजों पर परिषद नए नियम लागू नहीं कर सकती है। हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद इन कॉलेजों ने एनसीटीई को अपनी मान्यता निरंतर करने तथा उच्च शिक्षा विभाग को सत्र 2012-13 की काउंसलिंग में शामिल करने के लिए आवेदन दिया था। लेकिन शासन द्वारा इस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। शासन की उपेक्षा से नाराज इन कॉलेजों ने दोबारा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

मौलिक अधिकारों का हनन
याचिकाकर्ता कॉलेजों की ओर से मामले की पैवरी कर रहे अधिवक्ता सिद्धार्थ राधेलाल गुप्ता ने कहा कि जब हाईकोर्ट ने पूर्व में इन कॉलेजों की मान्यता बहाल कर दी थी तो इन्हें काउंसलिंग से वंचित करना गलत है। उन्होंने तर्क दिया कि एनसीटीई या उच्च शिक्षा विभाग किसी भी निजी कॉलेज के मौलिक अधिकारों का हनन नहीं कर सकता तब जबकि स्वयं अनावेदकों द्वारा उच्च न्यायालय के पूर्व आदेश को अंतिम मान लिया गया है। श्री गुप्ता के तर्कों पर उच्च न्यायालय की युगलपीठ ने सभी याचिकाकर्ता कॉलेजों को सत्र 2012-13 के लिए चल रही बीएड काउंसलिंग में शामिल करने के साथ ही इन्हें मान्यता प्राप्त कॉलेज मानते हुए छात्र भी आवंटित करने के के निर्देश उच्च शिक्षा विभाग को दिए।

आज से अतिरिक्त चरण
उधर उच्च शिक्षा विभाग बीएड कोर्स के सत्र 2012-13 में प्रवेश के लिए चल रही काउंसलिंग के अंतिम चरण के बाद मंगलवार 12 मार्च 2013 से  काउंसलिंग का अतिरिक्त चरण आयोजित करने जा रहा है। इस अतिरिक्त चरण के लिए रिक्त सीटों की जानकारी मंगलवार को जारी की जाएगी। इन सीटों पर रजिस्ट्रेशन व सत्यापन कराने वाले प्रदेश के मूल निवासी छात्र 12 से 14 मार्च तक आवेदन कर सकेंगे। इन छात्रों को 15 मार्च को सीट आवंटित की जाएगी। छात्रों को 19 मार्च तक संबंधित हेल्प सेंटर पर जरूरी दस्तावेजों के साथ शुल्क जा कर प्रवेश लेना होगा।

18 मार्च से कक्षाएं शुरू
अतिरिक्त चरण में अप्रवेशित छात्रों को आवंटित कॉलेज की मेरिट के आधारपर 20 मार्च को प्रतीक्षा सूची जारी की जाएगी। प्रतीक्षा सूची में आवंटन प्राप्त छात्रों को 20 व 21 मार्च को हेल्प सेंटर पर उपस्थित होना होगा। यह छात्र 22 से 25 मार्च तक नियमानुसार कॉलेजों में प्रवेश ले सकेंगे। हालांकि इसके बीच 18 मार्च से कक्षाएं शुरू हो जाएगी।

1
Back to top